जैसलमेर के दामोदरा रण में घुड़दौड़ प्रतियोगिता की झलक पाने उमड़ा समुदाय

देशी-विदेशी सैलानी भी जमे रहे अंत तक
जिला कलक्टर ने शुभारंभ किया और पुरस्कार प्रदान किए

जैसलमेर, 9 फरवरी/मरु महोत्सव के अन्तर्गत रविवार को जैसलमेर-सम मार्ग पर स्थित दामोदरा रण में आयोजित रोमांचक घुड़दौड़ प्रतियोगिता को देखने देशी-विदेशी सैलानियों के साथ ही क्षेत्रवासियों, अश्वारोहियों, अश्व पालकों एवं अश्वप्रेमियों का जमघट लगा रहा। होर्स रेस में दूर-दूर से आए घुड़सवारों ने हिस्सा लिया। दामोदरा रण में पहली बार आयोजित हॉर्स रेस में उत्साहजनक भागीदारी नज़र आयी।
जिला कलक्टर नमित मेहता, मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राकेश बैरवा, मरु महोत्सव के प्रभारी अधिकारी भारत भूषण गोयल, जिला खेल अधिकारी राकेश विश्नोई, मरु श्री ओमप्रकाश वैष्णव सहित अनेक जिलाधिकारी, देशी-विदेशी पर्यटक उपस्थित थे। समारोह का संचालन विजय बल्लाणी ने किया।
आरंभ में जिला कलक्टर नमित मेहता ने घुड़दौड़ प्रतियोगिता का उद्घाटन किया और बुजुर्ग एवं विशेषज्ञ अश्वपालकों से अश्व प्रतिस्पर्धा के बारे में चर्चा की।
तीन चरणों में हुई घुड़दौड़ स्पर्धा में घोड़ी के बच्चों के लिए निर्धारित एक किलोमीटर दौड़ ‘नानी रेस’ में श्यामसिंह सोढ़ा(मूलाना, जैसलमेर) प्रथम, हजारी सिंह जोधा द्वितीय तथा नारायणसिंह भीया तृतीय रहे। इसमें 8 प्रतिभागी शामिल रहे।
3 किलोमीटर लम्बी दूरी की छोटी रेस (रवाल) में 26 अश्वों ने हिस्सा लिया। इसमें हरदीप सिंह खिडोई (कच्छ, गुजरात) प्रथम, ख्वाजा मोहम्मद गोस खां (लखनऊ, उत्तरप्रदेश) द्वितीय तथा भवानीसिंह भाटी (पूनमनगर, जैसलमेर) का अश्व तृतीय स्थान पर रहा।
इसी प्रकार 3 किलोमीटर लम्बाई की बड़ी रेस में 13 अश्वों ने हिस्सा लिया। इनमें हाजी सरफराज खान(फैजाबाद, उत्तरप्रदेश) प्रथम, हरिराम विश्नोई (जाखल, सांचौर) द्वितीय तथा इकबाल गुल कठोर(सूरत, गुजरात) का अश्व तृतीय स्थान पर रहा।
इन सभी श्रेणियों के अश्वों के विजेता रहने पर इनके स्वामियों को जिला कलक्टर नमित मेहता एवं अन्य अतिथियों ने पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। सबसे छोटी आयु के अश्वारोही को भी सम्मानित किया गया। सजी-धजी घोड़ी राधिका का मनोहारी नृत्य सभी को लुभा गया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!