कोरोना चेन तोड़ने के लिए घरों में कैद है मण्डावरवासी

राशन की हो रही है होम डिलीवरी
मुस्तैदी से डटे हुए हैं सरपंच, शिक्षक व आंगनवाड़ी कर्मी

पूरे विश्व में कोरोना वायरस के चलते सभी लोग चिंतित है । वही ग्राम पंचायत मंडावर के लोगों ने कोरोना वायरस की चैन तोड़ने के लिए अपने आप को घरों में कैद कर रखा है । कोई भी घर से बाहर नहीं निकले इस हेतु ग्राम पंचायत मंडावर के जनप्रतिनिधियों, शिक्षक व आँगनवाडी कर्मी की स्पेशल 10 टीमें अनवरत रूप से कार्य कर रही है। टीम के सदस्य निरंतर संबंधित गांव में गश्त लगा रहे हैं । इसमें 60 से अधिक की जम्बो टीम है। सरपंच प्यारी रावत का कहना है भूखा कोई नहीं सोए इस हेतु राशन की होम डिलीवरी की जा रही है। वास्तविक फीडबैक लेते हुए वंचित लोगों तक खाद्य सामग्री पहुचाई जा रही है। हर व्यक्ति, हर परिवार तक सरकार के द्वारा दिए जा रहे लाभ पहुंचाने के लिए मुस्तैदी से काम कर रहे हैं। सरपंच प्यारी रावत सुबह 6 बजे से शाम को 7 बजे तक लगातार क्षेत्र में रहकर जनता से रूबरू ही हो रही है तथा लगातार सोशल मीडिया के माध्यम से जनता से सीधा संवाद करके समस्याओं से अवगत हो रही है। समस्याओं का त्वरित निदान किया जा रहा है। ग्राम पंचायत क्षेत्र में आवश्यक लोगों को राशन वितरण के अतिरिक्त भोजन के विशेष पैकेज एवं सेनेटाइजर पैकेट पैकेट वितरण किए जा रहे हैं। मण्डावर के रूप में प्रधानाचार्य जसराम मीना, प्राध्यापक पारसमल प्रजापति, वरिष्ठ अध्यापक जगदीश चावला, कनिष्ठ लिपिक शान्ता कर्णावट, भूपेंद्र पाल सिंह, सुरक्षा गार्ड दयाशंकर पालीवाल,

Leave a Comment

error: Content is protected !!