सेवानिवृत एवं निजी चिकित्सकों की ली जाएंगी सेवाएं

एमबीबीएस चिकित्सक को तीन हजार एवं विशेषज्ञ को चार हजार प्रतिदिन मानदेय
अधिकृत निजी चिकित्सालयों में भी हुआ मरीजों का ईलाज
दस्तावेज दिखाकर सीधे अस्पताल में कार्यग्रहण कर सकेंगे चिकित्सक
अजमेर, 9 नवम्बर। सेवारत चिकित्सकों द्वारा त्यागपत्र देकर कार्य से चले जाने के मद्दे नजर जिले के राजकीय चिकित्सालयों में अब सेवानिवृत एवं निजी चिकित्सक भी कार्य कर सकेंगे। चिकित्सक सीधे अस्पताल में प्रभारी/ पीएमओ को अपने दस्तावेज दिखाकर कार्य ग्रहण कर सकते है। राज्य सरकार द्वारा एमबीबीएस चिकित्सकों को तीन हजार रूपये, विशेषज्ञ चिकित्सकों को चार हजार रूपये प्रतिदिन मानदेय एवं रात्रिकालिन ड्यूटी पर सात सौ रूपये अतिरिक्त दिए जाएंगे। चिकित्सकों को प्रतिदिन आरएमआरएस के माध्यम से भुगतान किया जाएगा। आज निजी चिकित्सालयों में भी मरीज द्वारा राजकीय चिकित्सालय की ओपीडी पर्ची लेकर जाने पर उसका निःशुल्क ओपीडी परीक्षण किया गया।
जिला कलक्टर श्री गौरव गोयल ने बताया कि जिले भर में चिकित्सा व्यवस्था सुचारू बनाये रखने के लिए पुख्ता इंतजाम किये जा रहे हैं । ताकि किसी मरीजों को कोई कठिनाई ना हो। आमजन को चिकित्सा व्यवस्था बनाये रखने के लिए आयुर्वेद चिकित्सक आयुर्वेद विभाग, आयुष चिकित्सक एनएचएम एवं आरबीएसके आयुष चिकित्सक एनएचएम की ड्यूटी लगाई गई है। राजकीय चिकित्सालयों में अब सेवानिवृत एवं निजी चिकित्सक भी कार्य कर सकेंगे। चिकित्सक सीधे अस्पताल में अपने दस्तावेज दिखाकर कार्य ग्रहण कर सकते है। राज्य सरकार द्वारा एमबीबीएस चिकित्सकों को तीन हजार रूपये, विशेषज्ञ चिकित्सकों को चार हजार रूपये प्रतिदिन मानदेय एवं रात्रिकालिन ड्यूटी पर सात सौ रूपये अतिरिक्त दिए जाएंगे। चिकित्सकों को प्रतिदिन आरएमआरएस के माध्यम से भुगतान किया जाएगा।
जिला कलक्टर ने बताया कि समस्त उपखण्ड अधिकारियों एवं तहसीलदारों ने आज प्रातः 9 बजे अपने अधीन जिला चिकित्सालयों, सैटेलाइट अस्पतालों, उप जिला चिकित्सालयों, सामूदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर कार्यरत चिकित्सकों की उपस्थिति की जांच भी कर चिकित्सा व्यवस्था बनाये रखने की व्यवस्था की।
जिला कलक्टर ने बताया कि जिले के निजी चिकित्सालयों में मरीज द्वारा राजकीय चिकित्सालय की ओपीडी पर्ची लेकर जाने पर उसका निःशुल्क ओपीडी परीक्षण किया गया। रोगी को उपचार लिखने के पश्चात औषधि राजकीय चिकित्सालय से ही निःशुल्क प्राप्त हुयी।

Leave a Comment