ओसवाल जैन समाज ने मनाया क्षमावणी पर्व

केकड़ी
केकड़ी में ओसवाल समाज द्वारा शुक्रवार को क्षमावणी पर्व मनाया गया। समाज के महिला-पुरूषों ने बघेरा रोड स्थित दादाबाड़ी में एक दूसरों को खमत खामणा कह कर वर्ष भर में जाने अनजाने में हुई भूलों के लिए क्षमायाचना की। इस अवसर पर क्षमावणी एवं अभिनन्दन समारोह का आयोजन किया गया। प्रो. के.सी. जैन मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। खरतरगच्छ संघ अध्यक्ष जितेन्द्र सिंह सिंघवी, तपागच्छ संघ अध्यक्ष सुरेन्द्र धूपिया व स्थानकवासी संघ अध्यक्ष अरविन्द नाहटा सहित अन्य वक्ताओं ने कहा कि जो व्यक्ति क्षमा मांगने व क्षमा करने की कला सीख लेता है वह जीवन को जीने की कला को जान लेता है। मानव की सफलता अहंकार में नहीं क्षमा में है। इस दौरान ‘क्षमा रखो, क्षमा मांगों एवं क्षमा करो’ विषय पर भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमे सुशीला चीपड़ ने प्रथम, स्वीटी धूपिया ने द्वितीय एवं हिना ताथेड़ ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। निर्णायक की भूमिका चन्द्र सिंह जैन एवं नवीन जैन ने निभाई। कार्यक्रम के दौरान 9 उपवास की तपस्या करने वाली मधुबाला पीपाड़ा एवं स्वाति लोढ़ा तथा तेला तप करने वाले लाभचन्द धूपिया, शिल्पा लोढ़ा, कनकबाई ताथेड़, कृष्णा पीपाड़ा व विमला देवी चौधरी का संघ की ओर से बहुमान किया गया। संचालन प्रो. ज्ञानचन्द सुराणा ने किया। समारोह के पश्चात कुर्सी रेस आदि खेलकूद प्रतियोगिताओं का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में गौतमचन्द रूपावत, गौतम सिंह जैन, सुरेन्द्र लोढ़ा, सुभाषचन्द चौरडिय़ा, रिखबचन्द धम्माणी, शैलेन्द्र बोरदिया, अशोक लोढ़ा सहित अनेक समाजबंधु मौजूद रहे।
फोटो केप्शन- केकड़ी में क्षमावणी पर्व पर आकर्षक ढंग से सजा दादा गुरुदेव का दरबार।

Leave a Comment

error: Content is protected !!