पृथ्वीराज चौहान हॉकी प्रतियोगिता के उदघाटन पर युवा खिलाडिय़ों ने खेल प्रतिभा का प्रदर्शन

अजमेर 21 मई। सम्राट पृथ्वीराज चौहान की 853वीं जयंती के अवसर पर आयोजित हॉकी चन्दबरदाई नगर स्थित सम्राट पृथ्वीराज चौहान के स्टेडियम के एस्टोटर्फ मैदान पर मंगलवार को उद्घाटन मुकाबले में युवा खिलाडिय़ों से केन्द्रीय विद्यालय राजस्थान की टीम ने अपने से कहीं अधिक अनुभवी भारतीय खेल प्राधिकरण की बी टीम को 3-2 से हराकर सभी को चौका दिया। दूसरे मुकाबले में निमाज स्पोटर्स क्लब, निमाज जिला पाली, ने राजस्थान केन्द्रीय विद्यालय हॉकी टीम तरफा मुकाबले में 4-1 से परास्त कर मुकाबला जीता। तीसरे मुकाबले में भारतीय खेल प्राधिकरण ए ने केकडी स्पोटर्स क्लब, केकडी को 5-1 से परास्त किया। कल 22 मई सांय 4.30 बजे से भारतीय खेल प्राधिकरण अजमेर ए व निमाज स्पोटर्स क्लब, निमाज जिला पाली का फाइनल मुकाबला होगा।

प्रतियोगिता के आयोजन सचिव भारतीय खेल प्राधिकरण के वरिष्ठ हॉकी प्रशिक्षक नन्दकुमार शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि सम्राट पृथ्वीराज चौहान जयंती के अवसर पर आयोजित 12 दिवसीय कार्यक्रमों के अंतर्गत प्रतिवर्ष हॉकी खेल के मुकाबले आयोजित किए जाते है। स्टेडियम के अंतर्राष्ट्रीय स्तर के एस्ट्रोटर्फ मैदान पर युवा खिलाडिय़ों ने जमकर अपनी खेल प्रतिभा का प्रदर्शन किया। आयोजन समिति के प्रमुख कंवल प्रकाश किशनानी ने जानकारी देते हुए बताया कि दो दिवसीय प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि राष्ट्रीय बीजीय मसाला अनुसंधान केन्द्र के निदेशक गोपाल लाल ने इसका विधिवत उद्घाटन किया। समारोह की अध्यक्षता हाडी रानी बटालियन के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री बन्ने सिंह ने की। इस अवसर पर उप महापौर सम्पत सांखला व सचिव देवेन्द्र सिंह शेखासत, श्याम वर्मा, भैरू गुर्जर एवं मुकेश कुमार खीची, महेन्द्र कुमार तीर्थाणी, तुलसी सोनी, मोहन तुलस्यिाणी, सुनील, कवंर मंजर, गोविन्दराज के मौजूद रहे। सभी अतिथियों ने खिलाडिय़ों से परिचय प्राप्त किया। मंच संचालन नवीन सोगानी स्वागत भाषण श्याम वर्मा व आभार वार्ड 21 के पार्षद मोहन लालवानी ने दिया। आफीशियल वैभव शर्मा, कुलदीप सिंह शेखावत, अंजना रमानिया, बलराज चौहान रहे।
मुख्य अतिथि गोपाल लाल ने इस अवसर पर कहा कि हमारे देश ने विश्व को हॉकी खेलना सीखाया और लगातार ओलम्पिक खेलों में 8 बार स्वर्ण पदक जीत कर विश्व में अपना परचम फहराया। ओलम्पिक सहित एशियाई खेलों और अन्य अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में आज भी हमारे देश का नाम शिखर पर है। युवा पीढ़ी इस खेल को अपने जीवन में उतार कर नई ऊंचाईयां प्रदान करें। उन्होंने कहा कि आज की युवा पीढ़ी खेल मैदानों से दूरी बनाए हुए रहती है जिससे उनके स्वास्थ्य पर विपरीत असर पडऩे के साथ-साथ सर्वांगीण विकास में भी बाधाएं उत्पन्न होती है। इसलिए जरूरी है कि खेलों को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाए। खेल और खिलाड़ी ऐसे समाज का प्रतिनिधित्व करता है जहां किसी प्रकार का राग और द्वेष नहीं होता है।
जयंती में नगर निगम, अजमेर विकास प्राधिकरण, पर्यटन विभाग, पृथ्वीराज ऐतिहासिक एवं सांस्कृतिक शोध केन्द्र मदस विश्वविद्यालय, अजमेर डेयरी व सम्राट पृथ्वीराज चौहान समारोह समिति का सहयोग रहता है।

कवंलप्रकाश किशनानी
9829070059

Leave a Comment

error: Content is protected !!