डॉ लाल थदानी ने कोविद 19 में राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाई

मानव संसाधन मंत्रालय केंद्र सरकार और गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी ग्रेटर नोएडा के इतिहास सभ्यता विभाग द्वारा ” मध्यकाल के विभिन्न आयाम ; ऐतिहासिक परिपेक्ष्य ” विषय पर पांच दिवसीय एक्सपर्ट लेक्चर सीरीज का सफलतापूर्वक आयोजन हुआ ।

वेबिनार एक्सपर्ट सिरीज़ के समापन दिवस पर सेशन में कई वर्तमान और पूर्व कुलपतियों, गणमान्य विशिष्ट और प्रबुद्ध विध्वान शामिल हुए जिनमे राजस्थान सरकार में संयुक्त निदेशक डॉ लाल थदानी ने आयोजको के अनुरोध पर संसाधनक विशेषज्ञ (रिसोर्स पर्सन) के रूप में ” कोविद 19 महामारी बचाव में अव्वल राजस्थान सरकार विषय “” पर अपने सारगर्भित व्याख्यान से पंच दिवसीय एक्सपर्ट सीरीज को बहुत मूल्यवान बना दिया।

स्वास्थ्य निदेशालय में वरिष्ठ जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ
डॉ लाल थदानी ने बताया कि केंद्र सरकार ने 10 राज्यों द्वारा कोरोना की रोकथाम के लिए किए कार्यों का अध्ययन कर रिपोर्ट प्रस्तुत की है। इस रिपोर्ट में कम एक्टिव केसेज, रिकवर केसेज, कम मृत्यु दर सहित कोरोना की रोकथाम के सभी क्षेत्रों में राजस्थान नंबर वन पर है। पूरे देश में 36 लाख टेस्ट हुए हैं और अकेले राजस्थान में 5 लाख टेस्ट किए जा चुके हैं। प्रदेश के यशास्वी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा के अथक प्रयासों से अत्तिरिक्त स्वास्थ्य सचिव रोहित सिंह और निदेशक डॉ के के शर्मा के निर्देशन पर स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों ने ग्राम, उपखंड और जिला स्तर पर माइक्रो प्लानिंग की । आज भी होम, इंस्टीट्यूशनल क्वारंटीन सेंटर, कोविड केयर सेंटर, कोविड डेडिकेटेड अस्पताल संस्थागत क्वारंटीन सुविधा आदि व्यवस्थाओ से संक्रमितों की तादात को रोकने के सतत प्रयास जारी है।

उपस्थित विद्वानों ने उस समय करतल ध्वनि से स्वागत किया जब डॉ थदानी ने जानकारी दी कि अब तक 11 लाख से अधिक लोग अहमदाबाद, सूरत, मुंबई जैसे देश के अन्य संक्रमित हिस्सों से गावों में आए लेकिन संक्रमण उतना नहीं फैल पाया

इससे पूर्व प्रथम दिन प्रो गिरीश माथुर ( पूर्व विभागाध्यक्ष इतिहास विभाग, जेआरएन यूनिवर्सिटी उदयपुर ) ने ” resistance policy of mewar” विषय एक्सपर्ट लेक्चर दिया इस रिसर्च आधारित लेक्चर से प्रतिभागियों को लाभ पहुँचा। दूसरे दिन माननीय कुलपति (JRN यूनिवर्सिटी उदयपुर) प्रो S S सारंगदेवोत सर ” ने “वैश्विक महामारी से मानव बचाव” जैसे प्रासंगिक विषय पर एक्सपर्ट लेक्चर से प्रतिभागियों को अनुग्रहित किया। तीसरे दिन माननीय कुलपति ( MPUAT) Dr N S राठौर सर ने ” education past present and future” विषय पर सारगर्भित, प्रेरक और जानकारी प्रदत्त व्याख्यान से प्रतिभागियों को लाभान्वित किया । चौथे दिन Dr महावीर प्रसाद जैन (लेखक प्रमुख, केंद्रीय executive, अखिल भारतीय इतिहास संकलन संमिति) ने अनछुए से विषय ” nakshbandi silsila ” पर अपनी रिसर्च आधारित व्याख्यान दिया। एक्सपर्ट लेक्चर सीरीज के अंतिम दिन डॉ बी पी भटनागरM (convener udaipur chapter INTAC ) ने ” भारतीय विरासत औऱ संरक्षण ” विषय पर एक्सपर्ट लेक्चर दिया और प्रतिभागियों के साथ इन्टरैक्टिव सत्र में विरासत संरक्षक जैसे महत्वपूर्ण कार्य की क्रियान्विती को लेकर सार्थक वार्ता की।

एक्सपर्ट लेक्चर सीरीज की आयोजन सचिव डॉ दीक्षिता अजवानी ने जानकारी देते हुए बताया कि
इसमें देश और विदेश से 3000 से अधिक प्रतिभागियों ने रजिस्ट्रेशन कराया और प्रतिभागियों द्वारा वेबिनार को सफल बनाने में भागीदारी की गयी। प्रतिभागियो की संख्या ज्यादा होने से फेसबुक और यूट्यूब पर भी वेबिनार का समानांतर सेशन रखा गया ।

डॉ दीक्षिता अजवानी
आयोजन सचिव
+919810475815

Leave a Comment

error: Content is protected !!