कई लोग जनतांत्रिक विकास पार्टी में हुए शामिल

बक्‍सर। जनतांत्रिक विकास पार्टी को जिले में स्‍थानीय जनप्रतिनिधियों का साथ खूब मिल रहा है। इस क्रम में शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में जनतांत्रिक विकास पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष सह बक्सर लोकसभा प्रत्याशी अनिल कुमार के समक्ष सोनू यादव, इटाढी प्रमुख (इटाढी प्रखंड), हरेंद्र यादव, सरपंच (बड़कागांव), कमलेश चौधरी, पप्पु जी सरपंच (बरूना), एवं प्रभु यादव, पूर्व बीडिसी राजपुर पंचायत (दिनारा प्रखंड), कमल यादव, जयमंगल चौधरी, मंसूर इदृषी, फुलेंद्र चौधरी, गोल्डन यादव, सरोज यादव समेत अन्य गणमान्य लोगों को पार्टी की मानद सदस्‍यता ली।

अनिल कुमार ने सबों का पार्टी में स्‍वागत किया। इस दौरान अनिल कुमार ने कहा कि जनतांत्रिक विकास पार्टी की स्‍थापना हमने सत्ता की लालसा के लिए नहीं सेवा के लिए की थी। यही वजह है कि पार्टी की नीतियों से प्रभावित होकर लगातार कारवां बनता जा रहा है। इससे और कर्मठ लोगों के आने से दल मजबूत हुआ है। हम आशा करते हैं कि सभी पार्टी की नीतियों के अनुसार अपने कर्तव्‍यों का निर्वहन ईमानदारी पूर्वक करेंगे।

वहीं, अनिल कुमार ने बक्‍सर संसदीय क्षेत्र अंतर्गत दिनारा विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांव में जनसम्पर्क करते हुए कहा कि बक्‍सर को विकास और बदलाव की जरूरत है। बक्‍सर ने चुनावी मेढ़क जैसे नेता और सामंती मानसिकता वाले लोगों को देखा, लेकिन अब एक मौका विकास के बक्‍सर के अपने बेटे व भाई दें। मैं वादा करता हूं कि बक्‍सर लोकसभा की तस्‍वीर बदलेगी। जनतांत्रिक विकास पार्टी की पीड़ा बक्‍सर और शाहाबाद को लेकर विशेष रूप से है। हमने बक्‍सर की तरक्‍की के लिए एक ऐसा रोड मैप तैरूार करना चाहते हैं और उस पर काम करना चाहते हैं, जिसका लाभ बगैर भेदभाव के सबों को मिले। हम बुनियादी मुद्दों को लेकर जनता के बीच हैं।

अनिल कुमार ने जनता के बीच जाकर कहा कि अगर आज के सांसद और पूर्व सांसद समेत इलाके के अन्‍य जनप्रतिनिधियों ने कुछ किया होता तो बक्‍सर की स्थिति दयनीय नहीं होती। किसान, युवा, महिला आज सब बदहाल हैं। इस तस्‍वीर को बदलने के लिए आज जरूरत है क्षेत्र की जरूरतों को समझ कर काम करने वाले सांसद को चुनने की न कि चुनावी मेढ़कों को, जो सिर्फ चुनाव के वक्‍त आपसे वोट मांगने आते हैं।

जनसम्पर्क के मौके पर मोहन गुप्ता, डॉ रामराज भारती, जयेन्द्र प्रसाद सिंह, गुड्डू कुमार, जितेंद्र सिंह, संजय सिंह, बीरेंद्र सिंह, अरुण सिंह, चंद्रशेखर सिंह, सुविदार दास, मोहन राम, रामाधार राम, राजा यादव, रमेश राम, बैजनाथ राम, सुकर राम समेत सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Comment