आखिरकार कपिल को मिली बीसीसीआई से माफ़ी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव को माफ़ी दे दी है और उन्हें फिर से अपने साथ जोड़ लिया है.

दोनों के संबंध कपिल देव के बीसीसीआई से विद्रोह कर शुरू की गई प्रतियोगिता इंडियन क्रिकेट लीग के साथ चले जाने के बाद ख़राब हो गए थे.

मगर बुधवार को बीसीसीआई ने ना केवल कपिल देव के साथ संबंध सामान्य होने और उनके बोर्ड में वापसी की घोषणा की बल्कि उन्हें डेढ़ करोड़ रूपए भी दिए.

कपिल देव ने दिल्ली में बीसीसीआई के मुख्यालय जाकर बोर्ड प्रमुख एन श्रीनिवासन से मुलाक़ात की जिसके थोड़ी ही देर बाद बीसीसीआई ने उनके बारे में एक संक्षिप्त बयान जारी किया.

इस बयान में कहा गया कि कपिल देव ने बीसीसीआई को एक पत्र भेजकर बताया कि उन्होंने एसेल स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड/आईसीएल से इस्तीफ़ा दे दिया है और उन्होंने ये भी कहा है कि वो हमेशा बीसीसीआई का समर्थन करते रहे हैं और करते रहेंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से ये बताया है कि बोर्ड 100 से अधिक टेस्ट मैच खेलने के लिए दी जानेवाली राशि के तौर पर कपिल देव को डेढ़ करोड़ रूपए जारी करेगा और उन्हें अब हर महीने दी जानेवाली 35,000 रूपए की राशि भी दी जाएगी. साथ ही पिछले पाँच साल के बकाए को भी चुका दिया जाएगा.

कपिल देव ने इस घोषणा के बाद पत्रकारों से कहा, “बीसीसीआई मां-बाप की तरह है और हम उसके बच्चे. पहले भी इसके साथ रहकर मैंने क्रिकेट और क्रिकेटरों की बेहतरी के लिए काम किया है और मैं अभी भी यही करना चाहता हूँ.”

भारत के महान ऑल राउंडर और 1983 में पहला विश्व कप दिलवानेवाली टीम के कप्तान कपिल देव ने 2007 में इंडियन क्रिकेट लीग का दामन थाम लिया था जिसके बाद बीसीसीआई ने उनपर प्रतिबंध लगा दिया था.

बीसीसीआई ने आईसीएल को अनाधिकारिक आयोजन ठहराया था. फ़िलहाल आईसीएल निष्क्रिय हो चुका है.

कपिल देव ने भारत के लिए 131 टेस्ट और 225 वन डे मैच खेले हैं.

उन्होंने टेस्ट मैच में 5,248 रन बनाए और 434 विकेट लिए.

वन डे मैचों में उन्होंने 3,783 रन बनाए और 253 विकेट लिए.

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!