मण्डावर शराब मुक्त अभियान को लेकर विशेष बैठक, लिए कड़े फैसले

सरकारी शराबबन्दी के बाद सामाजिक शराबबन्दी का ऐलान
मण्डावर में शराब प्रचलन, परिवहन, स्टोरेज, हथकड़ी निर्माण, बिक्री , पीने एवं पिलाने पर पूर्ण पाबंदी , नियम तोड़ा तो कानूनी व सामाजिक कार्यवाही होगी
सामाजिक समारोह, त्योहारों पर शराब प्रचलन पर भी लगाया प्रतिबंध
शराब के कानूनी प्रतिबंध के साथ अब सामाजिक प्रतिबंध, लगेगा इक्यावन हजार का जुर्माना

आबकारी अधिनियम के तहत मतदान के जरिए शराबबंदी कराने एवं देश भर चर्चित राजसमन्द जिले के भीम उपखंड क्षेत्र की राजस्थान की तीसरी शराब मुक्त ग्राम पंचायत मण्डावर में रविवार को ग्राम पंचायत मंडावर क्षेत्र के सर्वसमाज की महापंचायत का आयोजन नागालैंड राज्य भाजपा कोर्डिनेटर दूध सिंह चौहान की अध्यक्षता तथा सरपंच प्यारी रावत , नशा मुक्ति अध्यक्ष भंवर सिंह रोहिडा, शराब बंदी के मुख्य भामाशाह चुन्ना सिंह चौहान, सर्कल अध्यक्ष पूरण सिंह डूंगावत, पटवार संघ जिलाध्यक्ष मिठू सिंह चौहान चौबीस गांव पूर्व अध्यक्ष पन्ना सिंह के सानिध्य में किया गया।
महापंचायत में मंडावर शराबबंदी को पूर्णतया लागू करने के लिए सामाजिक रूप से प्रतिबंधित लगाकर सामाजिक सरोकारों में परिवर्तन लाने के लिए अनुपम पहल की गई । अब सामाजिक महापंचायत के निर्णय के अनुसार ग्राम पंचायत मंडावर में शराब के प्रचलन , परिवहन, स्टोरेज, हथकड़ी निर्माण एवं शराब के पीने और पिलाने पर पूर्ण रोक लगाते हुए मंडावर को शराब निषेध गांव घोषित कर दिया है। ज्ञातव्य है कि मंडावर शराबबंदी को लेकर पिछले दो वर्ष से सरपंच प्यारी रावत के सानिध्य में आबकारी अधिनियम के तहत लंबा आंदोलन चला और इसके बाद बीस जनवरी को हुए मतदान में इक्यानवे फ़ीसदी लोगों ने शराब बंदी के पक्ष में मतदान करके अपना एकतरफा जनादेश दिया था। जिस पर आबकारी विभाग ने कार्रवाई करते हुए नए वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से मंडावर में आवंटित ठेका सदा- सदा के लिए निरस्त कर दिया और शराब का ठेका हटा दिया था। इस अवसर पर वार्डपंच लाल सिंह, गोकुल सिंह, सर्कल उपाध्यक्ष उपाध्यक्ष धूल सिंह, लाल सिंह डूंगावत , बीजेपी अध्यक्ष नेतसिंह कनियात, महामंत्री मूल सिंह , पटवार संघ जिलाध्यक्ष मिठू सिंह चौहान, जीवन सिंह डूंगावत, सूबेदार राम सिंह, विरद सिंह बामनिया, भगत डाउ सिंह, गोविंद सिंह पंवार , धन्नासिंह गहलोत , सूबेदार भंवर सिंह, राजू राम गमेती, सूबेदार अमर सिंह, कम्पाउंडर मकनसिंह, देवी सिंह, वेन सिंह, सोहनलाल मेघवाल , मिठू सिंह, शेर सिंह, छगनलाल तेली, बाबू सिंह पंवार, सूबेदार सोहन सिंह, मोहन सिंह, नारायण सिंह, देवीलाल भाट, गणेश सिंह, जालम सिंह, जेठ सिंह धाड़ियात, हालु सिंह, टिलसिंह, राजेन्द्र सिंह, छगनलाल चावला, गाजी सिंह ढाक, दीप सिंह, धन्ना सिंह, अमर सिंह, नेनु राम गमेती समेत चौबीस मजरों के सर्वसमाज के नागरिक मौजूद थे। समारोह का संचालन मिठू सिंह चौहान व भंवर सिंह कनियात ने किया।

ये लगाए सामाजिक प्रतिबंध
1. मण्डावर ग्राम पंचायत क्षेत्र में शराब बेचने, स्टोरेज करने, हथकड़ी निर्माण, परिवहन पर इक्यावन हजार रुपये का जुर्माना लगेगा।
2. शराब पीकर घूमने, गाली गलौच करने पर इक्कीस हजार का जुर्माना
3. शराब से सम्बंधित किसी भी शिकायत पर ग्यारह हजार का जुर्माना रहेगा।

यह लिये निर्णय
1. मण्डावर पूर्णतया शराबनिषेध गांव घोषित
2. शराब के प्रचलन, परिवहन, स्टोरेज, हथकड़ी निर्माण, बिक्री एवं पीने व पिलाने पर रोक
3. शादी, सूर्यपूजन, मायरा अन्य किसी भी सामाजिक समारोह पर शराब प्रचलन पर रोक
4. होली, दीपावली सहित सभी त्यौहारों पर शराब पर पाबंदी
5. हथकड़ी शराब पर रोक

शराबबन्दी के लिये बनाई ग्राम सुरक्षा समिति
मण्डावर में शराबबन्दी में पूर्ण निगरानी हेतु ग्राम सुरक्षा कमेटी का गठन किया गया जिसमें भंवर सिंह कनियात अध्यक्ष, कैप्टन गणेश सिंह उपाध्यक्ष तथा चार प्रौढ़ सदस्य गोकुल सिंह पीथडा, थानेदार लाल सिंह, भंवर सिंह रोहिड़ा, सूबेदार फतह सिंह चतरपुरा, धूल सिंह ढाक का चौड़ा, आसु सिंह, सोहनलाल, महिला सदस्य सुशीला देवी रोहिड़ा, बीना देवी ठाकडा, पुष्पा देवी, नैनी देवी तथा युवा सदस्य में गोपाल सिंह टेलर, लूम्ब सिंह, तिलोक सिंह रावली , लक्ष्मण सिंह होली का थाक, प्रभु सिंह ढाक आदि को बनाया। इसके अलावा चौबीस मजरों में सक्रिय टीम तथा इनसे उपर चार राजस्व गांव ढाक का चौड़ा, मण्डावर, चतरपुरा, रोहिड़ा की अलग कमेटी बनाई गई है जो किसी भी आपराधिक व शराब प्रचलन की सूचना ग्राम सुरक्षा कमेटी को देगी। इस तरह गांव शराब प्रचलन रोकने के लिए मजरा, राजस्व गांव व ग्राम पंचायत तीन स्तर कमेटी बनाई गई है।

शराबबन्दी फेक्ट फाइल
1.पंचायती राज चुनाव 2015 में चुनावी वादा
2.महाशिवरात्रि 2015 को संकल्प पत्र से शुरुआत
3. विधिवत ज्ञापन 15 मार्च 2017
4. ज्ञापन का भौतिक सत्यापन 25 अप्रेल 2017
5. मतदान की घोषणा 6 जनवरी 2018
6. मतदान 20 जनवरी 2018
7. जीत के बाद पुनः ज्ञापन 23 फरवरी 2018
8. शराब ठेका पूर्णतया बन्द 1 अप्रेल 2018

इनका कहना
मण्डावर को शराबमुक्त बनाने में एक छोटे बच्चे से लगाकर बुजुर्ग से बुजुर्ग महानुभावों का अतुल्य योगदान रहा है। जीत का श्रेय मण्डावर की जनता को जाता है। अभियान में आर्थिक सहयोग देने वाले तीन महानुभावों का विशेष आभार जिन्होंने अभियान को सफल बनाने तक आर्थिक सहयोग दिया।
प्यारी रावत
सरपंच मण्डावर
मुख्य सूत्रधार- शराबबन्दी अभियान

गांव में अवैध शराब बिक्री, तस्करी रोकने हेतु ग्राम सुरक्षा कमेटी बनाई है जिसके माध्यम से पैनी निगरानी रखी जायेगी।
भंवर सिंह कनियात
अध्यक्ष- ग्राम सुरक्षा समिति मण्डावर

Leave a Comment