जागरुकता से ही हीमोफीलिया से बचाव संभव

बीकानेर। विश्व हीमोफीलिया दिवस के अवसर पर विश्व हीमोफिलिया दिवस पर डा श्याम अग्रवाल हास्पीटल एंड रिसर्च सेन्टर व बीकानेर हीमोफीलिया सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में एक संगोष्ठी का आयोजन कर रोग से बचाव और उसके इलाज के बारे में जागरूकता पर बल दिया। अस्पताल प्रबंधक डॉ श्याम अग्रवाल ने कहा कि यह रक्त विकार की आनुवंशिक बीमारी है। यह रोग किसी भी उम्र में हो सकता है। यह एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में वंशानुगत रुप से हो सकता है। इसकी जागरूकता से ही इलाज संभव है। वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉ नरेन्द्र पारीक अस्पताल में चल रहे नि:शुल्क हीमोफीलिक केन्द्र के बारे में विस्तार से बताया। इस मौके पर रणवीर सिंह राठौड़ ने हीमोफीलिया रोग के कारण,निदान व उपचार संबंधी जानकारी प्रदान की।

Leave a Comment