महावीर मय हुआ बीकाणा, निकली भगवान महावीर की शोभायात्रा

बीकानेर। भगवान महावीर के जन्म कल्याणक के त्रि-दिवसीय कार्यक्रम के तहत भगवान गंगाशहर-भीनासर और बीकानेर से अलग-अलग शोभायात्राएं निकाली गई। इस शोभा यात्रा के माध्यम से पूरे नगर को अहिंसा, अपरिग्रह और संयम का संदेश दिया गया। भगवान महावीर की सजीव झांकियां, उनके संदेश के बैनर, पोस्टर और उद्घोष के साथ बड़ी संख्या में अनुयायियों ने शिरकत की। शोभा यात्रा में युवा पीढ़ी ने उत्साह से भाग लिया। इस शोभायात्रा में सभी जैन अनुयायी शामिल हुए। कलाकार बच्चों ने महावीर एवं जैन मान्यता के विभिन्न रूप धारण किए। पहली शोभायात्रा भीनासर जैन जवाहर विद्यापीठ भीनासर से इन्द्रा चौक, गांधी चौक, बोथरा चौक, महाप्रज्ञ चौक, जैन मंदिर, शान्ति निकेतन, चौपड़ा गली, मालू गेस्ट हाऊस, महावीर चौक, तेरापंथ भवन होते हुए पाश्र्वचन्द्र मन्दिर घूमचक्कर पहुंची। यहां से गोपेश्वर बस्ती, लक्ष्मीनारायण मन्दिर, बड़ा बाजार होते हुए गौड़ी पाश्र्वनाथ जैन मन्दिर, बीकानेर मुख्य समारोह स्थल पहुंची। दूसरी शोभायात्रा दिगम्बर नसिया जी, लेडी एल्गिन स्कूल के सामने से प्रारम्भ होकर कोचरों का चौक, डागा सेठिया, पारख, रांगड़ी चौक, चिन्तामणी पाश्र्वनाथ मन्दिर, भुजिया बाजार, आदिश्वर मन्दिर, नाहटा मौहल्ला, गोलछा, रामपुरिया, आसानियों का चौक, मावा पट्टी, बैदों का महावीर जी मन्दिर, सुराणा चौक, बड़ा बाजार होते हुए गौड़ी पाश्र्वनाथ जैन मन्दिर मुख्य समारोह स्थल पहुंची। शोभा यात्रा में जैन दर्शन को इंगित करती हुई झांकियां बनाई गई। वहीं ऊंट, घोड़े तथा वाहनों पर महावीर के सिद्धान्तों को प्रतिपादित करने वाले जानकारियों के पर्दे लगाए गए।
आंगनबाड़ी विद्यार्थियों को बांटी पाठ्य सामग्री
शास्त्री नगर स्थित आर.एल. गुप्ता बालिका सशक्तिकरण संस्थान की टीम द्वारा बीकानेर फड़ बाजार स्थित आंगनबाड़ी केंद्र में महावीर जयंती के उपलक्ष्य मे सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन कर विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन किया गया। इस अवसर पर संस्थान द्वारा आंगनबाड़ी के विद्यार्थियों को यूनिफॉर्म ,पुस्तकें एवं शिक्षा से संबंधित अन्य आवश्यक सामग्री का वितरण किया गया।संस्था के अध्यक्ष डॉ. अर्पिता गुप्ता ने विद्यार्थियों की छुपी प्रतिभा की प्रशंसा करते हुए, महावीर जयंती के महत्व पर प्रकाश डालते हुए हमेशा भगवान महावीर स्वामी के आदर्शों को अपनाने व पशुबलि,जात-पात के भेदभाव का विरोध करने तथा अहिंसा की राह पर मिलजुल कर आगे बढऩे का संदेश दिया। कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन में मनीषा खुराणा, स्मिता अग्रवाल, मधु कच्छावा, रमेश सियोता एवं आंगनवाड़ी केंद्र के कार्यकर्ता जेठी स्वामी, देवी मोदी व सुनीता स्वामी का महत्वपूर्ण सहयोग रहा।

Leave a Comment