एनआरसीसी के पशु स्वास्थ्य कैम्प में उमड़े पशुपालक

बीकानेर, 11 जून। भाकृअनुप-राष्ट्रीय उष्ट्र अनुसंधान केन्द्र (एनआरसीसी) द्वारा अनुसूचित जाति उपयोजना के तहत मंगलवार को गांव गीगासर में पशु स्वास्थ्य षिविर एवं वैज्ञानिक संवाद का आयोजन किया गया। गीगासर के उपस्वास्थ्य केन्द्र में आयोजित इस पशु स्वास्थ्य षिविर में 1101 विविध पशुओं जिनमें ऊँट 48, गाय 574, भैंस 50 एवं 429 भेड़/बकरी के साथ आए 137 महिला एवं पुरुष पशुपालक लाभान्वित हुए।
निदेषक डॉ.आर.के.सावल ने संवाद कार्यक्रम में पशुपालकों को से कहा कि इस योजना का मूल उद्देष्य अनुसूचित जाति क्षेत्रों में विभिन्न घटकों के तहत जरूरतमंदों का ढांचागत विकास सुनिष्चित करना है। इसके तहत एनआरसीसी अपने कार्यक्षेत्र के अनुरूप इन क्षेत्रों में अधिकाधिक पशुपालकों को वैज्ञानिक तरीके से पशुओं का रखरखाव, बीमारियों के इलाज के साथ-साथ उनके बेहतर स्वास्थ्य हेतु उचित समाधान सुझाते हुए उन्हें जागरूक बनाने की दिषा में कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन से पशुओं से बेहतर उत्पादन प्राप्त होगा तथा जमीनी स्तर पर पशुपालकों की आजीविका में सुधार लाया जा सकता है।
एससीएसपी योजना के नोडल अधिकारी डॉ.काषीनाथ ने बताया कि षिविर में लाए गए पशुओं में चीचड़, खाज-खुजली, भूख कम लगना, पेट के कीड़े, दस्त लगना, मिट्टी खाना आदि के उपचार हेतु दवा दी गई। षिविर में पशुओं के बेहतर स्वास्थ्य हेतु कमजोर पशुओं को मल्टी विटामिनयुक्त इंजेक्षन लगाए गए। साथ ही पौषकता में वृद्धि हेतु केन्द्र निर्मित संतुलित पषु आहार व खनिज मिश्रण का वितरण किया गया।
इस अवसर पर केन्द्र के प्रधान वैज्ञानिक डॉ.सुमन्त व्यास ने पशुओं में होने वाली विभिन्न प्रजनन संबंधी समस्याओं एवं उनके उचित निराकरण के बारे में जानकारी दी। वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ.एफ.सी.टुटेजा ने पशुओं के बेहतर स्वास्थ्य हेतु पशुओं के उचित प्रबन्धन व इलाज के द्वारा खाज-खुजली एवं अन्य बीमारियों से बचाव हेतु जानकारी दी।
केन्द्र द्वारा गीगासर में आयोजित इस पशु स्वास्थ्य कैम्प में रामदयाल, मनजीत सिंह, हरपाल सिंह, राधाकृष्ण एवं सतनाम सिंह, नेमीचंद ने पशुपालकों के पंजीयन, उपचार, दवा व पशु आहार वितरण, ऊँट गाड़ों में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम हेतु रिफलेक्टर्स लगाने जैसे कार्याें में सहयोग प्रदान किया गया।
——
विकास कार्याे में महिलाओं की भूमिका व सहभागिता विषय पर बैठक आयोजित
बीकानेर,11 जून। राजस्थान नगरीय आधारभूत विकास परियोजना (आरयूआईडीपी) की सामुदायिक जनचेतना एवं सहभागिता कार्यक्रम इकाई द्वारा मंगलवार को वार्ड नं. 22 में लक्षित समूह चर्चाओं का आयोजन किया गया, जिसमें प्रोजेक्ट के तहत बीकानेर के गंगाषहर में सीवरेज प्रणाली के विकास के तहत किये जाने वाले आधारभूत विकास कार्यों में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका एवं सहभागिता विषय पर बैठके आयोजित कर व्यक्तिगत एवं सामूहिक स्वच्छता व स्वास्थ्य के बारे में जानकारी दी गई। इस कार्यक्रम में लगभग 82 महिलाओं एवं किषोरी बालिकाओं ने भाग लिया।
कार्यक्रम में पी.एस.सी., आरयूआईडीपी बीकानेऱ के सामुदायिक अधिकारी बाबूलाल गोठवाल ने बताया कि समाज विकास में महिलाओं की अहम भूमिका होती है, अतः विकास कार्यांे की जानकारी महिलाओं को होनी आवष्यक है। उन्होंने ने कहा कि आधी आबादी के सहयोग के बिना किसी भी प्रकार के विकास की कल्पना बेमानी होगी तथा नारी शक्ति की भूमिका पर बोलते हुए कहा कि आपके सहयोग से ही काम समय पर पूरे हांेगे और हम सभी को फायदा होगा। इस अवसर पर महिलाओं को आरयूआईडीपी काम में सहयोग करने का आग्रह किया।
सीएपीसी जयपुर से आए के.के. शर्मा ने महिलाओं को व्यक्तिगत स्वच्छता व स्वास्थ्य की जानकारी देते हुए बताया कि गंदगी से बीमारी फैलती है। इस मौके पर षर्मा ने प्रोजेक्ट के तहत सीवरेज प्रणाली के फायदे, उपयोग एवं रखरखाव के साथ ही इस कार्य में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका पर भी प्रकाष डाला।
कार्यक्रम को सफल बनाने में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता षर्मिला भाटी, संतोष देवी, रिंकू सोलंकी, पुष्पा देवी, इन्द्रा सोलंकी, किरण स्वामी व सीओटी के सदस्य रविकान्त,रेखा सुथार, तेजश्री सोलंकी ने भूमिका निभाई।

—–
डॉ कल्ला बुधवार को यूआईटी के विभिन्न विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण
बीकानेर, 11 जून। जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बी डी कल्ला बुधवार को बीकानेर शहर में नगर विकास न्यास द्वारा निर्मित विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे।
डॉ कल्ला दोपहर तीन बजे करणी नगर स्कीम में नगर विकास न्यास के नवनिर्मित स्टोर का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद वे 3.30 बजे वृदांवन एनक्लेव में विकास कार्य का लोकार्पण करेंगे। वे 4.00 बजे बंसत कुंज में स्केटिंग रिंग का लोकार्पण करेंगे। इसके बाद वे न्यू बस स्टेण्ड गंगाशहर के सामने बने नवनिर्मित गेट का लोकार्पण करेंगे। डॉ कल्ला सायं 5 बजे तोलियासर भैंरूजी गली में बनी सीसी रोड़ का उद्घाटन करेंगे। 5.30 बजे सूचना एवं जनसम्पर्क कार्यालय (डाक बंगला) के पीछे बनी नवनिर्मित सीसी रोड़ का उद्घाटन करेंगे। इसके बाद 6 बजे से पब्लिक पार्क में सिविल कार्य, पोल व स्ट्रीट लाईट व इलेक्ट्रिकल वर्क्स का लोकार्पण करेंगे।
——
गर्मी में पशुओं को राहत
भारवहन करने वाले पशुओं को दोपहर 12 से 3 बजे तक मुक्त रखने के निर्देश
बीकानेर, 11 जून। जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने गर्मी के प्रकोप के मद्देनजर भारवहन करने वाले पशुओं को दोपहर 12 से 3 बजे तक कार्य से मुक्त रखने के निर्देश दिए हैं।
गौतम ने कहा कि गर्मी के मौसम में इन पशुओं को दोपहर 12 से 3 बजे तक काम न करवाएं। गौतम ने इस सम्बंध में पशुपालन विभाग को आदेश जारी कर इसकी अनुपालना सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में तापमान की प्रतिकूल परिस्थितियां बनी हुई है। प्रतिवर्ष प्रतिकूल परिस्थितियों में काम करने के कारण हजारों पशु काल का ग्रास बन जाते हैं। पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 के तहत पशुओं को क्रूरता से बचाने का प्रावधान है, पशुओं के साथ क्रूर व्यवहार करना एक गंभीर अपराध माना जाएगा। पशुधारक इस बात का भी ध्यान रखे कि पशुओं पर क्षमता से अधिक भार न ढोया जाए। उन्होंने बताया कि पशुओं के साथ क्रूर व्यवहार करता पाए जाने पर सम्बंधित के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Comment