शहर में स्वीकृत 24 में से 5 मार्गो पर नहीं कोई परमिट

अजमेर, 16 जुलाई। अजमेर शहर में सिटी बसों, टेम्पों आदि नगरीय वाहनों के लिए स्वीकृत मार्ग, उन पर जारी परमिट व नये मार्ग खोले जाने का मामला राजस्थान विधान सभा में विधायक वासुदेव देवनानी द्वारा एक तारांकित प्रश्न के माध्यम से उठाया गया।

5 सुविधाजनक मार्गो पर परमिट क्यो नहीं – देवनानी ने सदन में पूरक प्रश्न के माध्यम से परिवहन मंत्री जी से यह जानना चाहा कि शहर में स्वीकृत 5 मार्ग जिनमें धोलाभाटा से पलटन बाजार, रामेश्वर विद्यापीठ से जनाना अस्पताल, माखुपुरा से अजयनगर, नारीशाला से जनाना अस्पताल व माखुपुरा से दौराई रेलवे स्टेशन शामिल है इन मार्गो पर एक भी वाहन को परमिट जारी नहीं किया गया है जबकि ये सीधे व कम दूरी के मार्ग है जिन पर क्षेत्रवासी कम समय में गंतव्य स्थान पर पहुंच सकते है, परन्तु मंत्री जी इसका कोई स्पष्ट जवाब नहीं दे पाए।

देवनानी ने बताया कि विधान सभा में उनके द्वारा पूछे गये प्रश्न के जवाब में मंत्री जी ने बताया कि अजमेर शहर में वर्तमान में नगरीय वाहनों के लिए 24 मार्ग स्वीकृत है तथा वर्ष 1988 से मार्च 2012 के मध्य कुल 875 सिटी बस, टेम्पों व टाटा मैजिक को परमिट जारी किये है जबकि 2012 के बाद शहर में कोई भी नया मार्ग स्वीकृत नहीं किया गया है।

देवनानी ने बताया कि उन्होंने सरकार से शहर के बाहरी क्षेत्र में हुए आबादी विस्तार व मुख्य मार्गो पर व्याप्त यातायात दबाव को ध्यान में रखते हुए नये मार्ग खोलकर उन पर परमिट जारी किये जाने के बारे में भी पूछा था जिसके जवाब में मंत्री जी द्वारा बताया गया कि नये मार्ग खोलने के लिए प्रादेशिक परिवहन अधिकारियों को निर्देशित किया गया है साथ ही उन्होंने यह आश्वासन भी दिया कि अजमेर में जो नये मार्ग खोले जाने के प्रस्ताव प्राप्त होंगे उनके अनुसार मार्ग खुलवा दिये जाएंगे।

इस सम्बंध में देवनानी ने कहा कि उन्होंने फायसागर रोड़ टेलीफोन एक्सचंेज चैराहे से रिजनल काॅलेज तिराहा, वैशली नगर, माकड़वाली रोड़, पंचशील से लोहागल होते हुए जनाना अस्पताल तक नया मार्ग खोले जाने की मांग गत यातायात प्रबंधन समिति की बैठक में भी प्रेषित की थी। वर्तमान में इस मार्ग पर कोई नगरीय वाहन उपलब्ध नहीं होने से क्षेत्रवासियों को बहुत असुविधा हो रही है। उन्होंने कहा कि परिवहन मंत्री द्वारा विधान सभा में दिये गये आश्वासन पर यह उम्मीद की जा सकती है कि नगरीय वाहनों के लिए शीघ्र ही यह मार्ग खुल सकेगा।

क्या एसे कोई वाहन तो नहीं चल रहे जिनकी फिटनेस व वैधता समाप्त हो – देवनानी ने बताया कि उन्होंने विधान सभा में एसे नगरीय वाहनों के बारे में जानकारी चाही जिनकी फिटनेस अथवा परमिट की वैधता समाप्त हो गई हो जिसके जवाब में मंत्री जी द्वारा बताया गया कि प्रदेश में कहीं पर एसा कोई वाहन संचालित नहीं है जबकि जवाब में प्राप्त विवरण के अनुसार लगभग 158 वाहनों के परमिट की वैधता आज की तारीख में समाप्त हो चुकी है। देवनानी ने कहा कि देखने लायक बात यह है कि सवारियों की सुरक्षा की दृष्टि से क्या एसे वाहन सड़कों पर चल तो नहीं रहे हैै। उन्होंने बताया कि जवाब में प्राप्त जानकारी के अनुसार अन्दरकोट से जनाना अस्पताल मार्ग पर 19 मिनी बसों को परमिट बताया गया है जबकि वर्तमान में उनमें से 18 के परमिट की वैधता समाप्त हो चुकी है व 1 वाहन की वैधता 31 जुलाई को समाप्त होगी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!