2012 में दुनिया के अंत की संभावना?(चौथी और अंतिम कडी)

कृपया 21 दिसंबर 2012 इस आलेख को पढने से पूर्व इसकी तीनो कडियों को पढें। जब अंतरिक्ष वैज्ञानिकों की ओर से पृथ्‍वी के धुर बदलने या किसी प्रकार के ग्रह के टकराने की संभावना से इंकार किया जा रहा है , तो निश्चित तौर पर प्रलय की संभावना सुनामी, भूकम्‍प, ज्वालामुखी, ग्लोबल वार्मिग,अकाल, बीमारियां, आतंकवाद, युद्ध की विभीषिका व अणु बम जैसी घटनाओं से ही मानी जा सकती है, … Read more

2012 में दुनिया के अंत की संभावना?(तीसरी कडी)

दिसंबर 2012 में पृथ्‍वी पर प्रलय आने की संभावना को प्रमाणित करते एक दो नहीं , बहुत सारे सुबूत जुटाए गए हैं। यही कारण है कि अपने पहले और दूसरे आलेख के बाद इस तीसरे आलेख में भी मैं सारी बातें समेट नहीं पा रही हूं। दुनिया के नष्‍ट होने की संभावना में एक बडी बात यह भी आ … Read more

2012 में इस दुनिया के अंत की संभावना? (दूसरी कडी)

पहली कडी को लिखने के बाद दूसरे कार्यों में व्‍यस्‍तता ऐसी बढी कि आगे लिखना संभव ही न पाया। 2012 दिसंबर को दुनिया के समाप्‍त होने के पक्ष में जो सबसे बडी दलील दी जा रही है , वो इस वक्‍त माया कैलेण्‍डर का समाप्‍त होना है। माया सभ्यता 300 से 900 ई. के बीच मेक्सिको, पश्चिमी होंडूरास और अल सल्वाडोर आदि … Read more

2012 में इस दुनिया के अंत की संभावना?(पहली कडी)

जिस तरह जन्‍म और मृत्‍यु जीवन का सत्‍य है , उसी प्रकार आशा और आशंका हमारे मन मस्तिष्‍क के सत्‍य हैं। जिस तरह गर्भ में एक नन्‍हीं सी जान के आते ही नौ महीने हमारे अंदर आशा का संचार होता रहता है , वैसे ही किसी बीमारी या अन्‍य किसी परिस्थिति में बुरी आशंका भी … Read more

आम आदमी पार्टी और दूसरी पार्टियों से अलग कैसे है ?

1.पार्टी में कोई हाईकमान नहीं है।आम आदमी की पार्टी है और आम आदमी सर्वोपरि है । 2.लाल बत्ती की गाडी नहीं।आम और ख़ास में कोई भेद नहीं। 3.सांसद और विधायकों के लिए कोई विशेष सुरक्षा नहीं। 4.आपराधिक पृष्ठभूमि वाले व्यक्ति को चुनाव में टिकट नहीं। 5.सांसदों और विधायकों को कोई बड़े बंगले नहीं। 6.आर्थिक दान … Read more

प्रीत

यहा प्रीत परवान चढ़ी है , वहा बर्फ का धीरे गलना । पायल को बजने से रोके , दबे पाँव तेरा धीरे चलना । मुझे अखरता है ये सब , साँझ का धीरे धीरे ढलना । लगता है मेरे अरमानो को , पड़ेगा धीरे धीरे जलना । यहा प्रीत परवान चढ़ी है , वहा बर्फ का … Read more

आतंकियों के परिवारों की मदद : वोटों की राजनीति

हाल ही एक न्यूज चैनल आईबीएन 7 पर खबर आई कि सरकार आतंकियों के परिजनों की मदद व पुनर्वास करने का निर्णय कर चुकी है और उसे जल्द ही अमली जामा पहना दिया जाएगा। गृह राज्य मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने तो खुद इसकी पुष्टि करते हुए योजना की तारीफ की। यह खबर देख कर मैं … Read more

इस जहाँ में कोई तो हमारा होता

इस जहाँ में कोई तो हमारा होता गर तेरी यादों का सहारा होता न डूबती कश्तियाँ इस क़दर बेसुध पास गर तुझसा कोई किनारा होता गुज़र गया जो गुज़ारना था मधुकर वेरना आज कुछ और ही नजारा होता इस जहाँ में कोई तो हमारा होता इस जहाँ में कोई तो हमारा होता … -नरेश मधुकर

ज्योति मिर्धा का कितना स्वागत करेगा नागौर!

नागौर के राजनीति में हमेशा एक  राजनीतिक समूह स्थापित राजनीतिक सिद्धांतों के प्रतिकूल रहा है।  नाथूराम जी मिर्धा ने अपने राजनीतिक अवधि के जादातर वक़्त कांग्रेस के विरोध में निकाला। श्री रिच्पल मिर्धा कई बार कांग्रेस से अंदर-बाहर हो चुके है। श्री रिच्पल मिर्धा ने कई चुनाव कांग्रेस के खिलाफ लड़े है जैसे की जिला परिषद, विधान … Read more

पुष्कर में तैंतीस करोड़ देवी-देवता

पद्म पुराण के अनुसार कार्तिक एकादशी से पूर्णिमा तक सभी तैंतीस करोड़ देवी देवता पुष्कर में ही निवास करते हैं और यहां के पांच दिन के स्नान को पंचतीर्थ स्नान कहा जाता है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन पुष्कर की पवित्र धरती पर आना ही सौभाग्य माना जाता है। वेद पुराणों में कहा गया है कि-पर्वतानां … Read more

दिल बैरागी , दिल बैरागी

दिल बैरागी , दिल बैरागी दिल बैरागी ,दिल बैरागी … २ जिस दिन से तू छोड़ गया है अरमान सारे तोड़ गया है ढूडे नदिया ढूंढे किनारा तू ही मंजिल तू ही सहारा हसरत रात भर जागी दिल बैरागी, दिल बैरागी दिल बैरागी, दिल बैरागी … २ इस दर भटका ,उस दर भटका कौन है … Read more

error: Content is protected !!