महिलाओं से छल करने वाले ढोंगी बाबा को किया गिरफ्तार

जैसलमेर डाॅ. किरण कंग पुलिस अधीक्षक जिला जैसलमेर जिले के समस्त थानाधिकारियों को अपने-अपने हल्का क्षेत्र में अंजान व्यक्तियों डोर टू डोर चैकिंग करने के निर्देश दिये गये। उक्त निर्देशों की पलाना में रामगढ क्षेत्र में सीमा व नहरी क्षेत्र में आये हुये लोगो की आईडी लेकर चैक करने व संदिग्ध होने पर तुरन्त कार्यवाही करने की कार्यवाही बीट आॅफिसर गणेषसिह की जा रही इस दौरान कानि द्वारा थानाधिकारी पुलिस थाना रामगढ कान्तासिह ढिल्लो को सूचना दी कि साधना हैड पर एक व्यक्ति फर्जी आईडी से रह रहा है। जिस पर थानाधिकारी के निर्देशानुसार कानि0 गणेष, मालाराम, दिनेष, व सुनिता मकानि को तस्दीक के लिये भेजा गया तो सुखदेवसिह व परिवर्तित नाम जसविन्द्रकौर खेत पर काम करते मिले, सुखदेवसिह का आधार कार्ड चैक किया तो उसमें नाम देवीलाल पुत्र लाधूराम जाति नायक निवासी सलेमपुरा लिखा मिला परवर्तित नाम जसविन्द्रकौर जिनसे पूछताछ की गयी तो लडकी ने सुखदेवसिह के बारे में बताया कि हमारे गांव में ढोंगी बाबा बनकर आया था जिसने मेरे में ओपरी छाया होने की बात कहने पर मेरे माता पिता को बहकावे में ले लिया मुझे देषनोक माता के मंदिर में 15 दिन रहने के लिए कहा जिसके साथ मनीष भी था, मनीष निवासी सूरतगढ छोडकर भाग गया फिर बाबा मुझे साधना हैड ले आया यहां तीन माह से इसके साथ रह रही हूं,।

आधार कार्ड की सहायता से ढोगी बाबा आया गिरफ्त में
ढोंगी बाबा देवीलाल पुत्र लाधूराम फर्जी नाम जो सुखदेवसिह के नाम से रह रहा था और पत्नि के रूप में परवर्तित नाम जसविन्द्रकौर, बाबा की जेब से आधार कार्ड गिरने की वजह से उस पर असली नाम देवीलाल होने पर शक पर मन थानाधिकारी कान्तासिंह ढिल्लो को सूचना दे दी थाना की टीम गठित होने पर बाबा को हैड पर दबोचा और पूछताछ की तो बाबा ने बताया कि मैं फर्जी वेष में बाबा बना था, लडकी के माता पिता को ओपरी छाया का कहकर किसी दूसरे लडके के साथ भेजकर देषनोक से यहां ले आया लोगों को झूठा नाम सुखदेवसिंह व परिवर्तित नाम जसविन्द्रकौर बताता रहा। आधार कार्ड ने झूठ की पोल खोल दी जिस पर पुलिस थाना रामगढ द्वारा पुलिस थाना समेजा कोठी सम्पर्क किया व परिजनों को सूचित किया लडकी के परिवार वाले रामगढ आ रहे है।

महिला द्वारा पुछताछ में बताये बाबा के कई राज, जैतसर फार्म हाउस में वैष्या के घर रखा
पूछताछ में परिवर्तित नाम जसविन्द्रकौर ने बताया कि बाबे ने अपनी दोस्ती जैतसर में उसकी बनायी हुयी भुआ जो अपने घर में लडकियों से व खुद बुरा कर्म करवाती है, मुझे वहां रखा वहां पर मनीष नाम के लडके के साथ जबरदस्ती दोस्ती करा मुझे देषनोक भुत निकालने के बहाने भेज दिया, मुझे कोई तत्र विधा से दिमाग खराब कर दिया इसलिए मां बाप को भूल गई और इसी के साथ रही।

माता- पिता को एवं संबंधित पुलिस थाना को दी सूचना
पुलिस थानाधिकारी कान्तासिह ढिल्लो तुरन्त सूचना पुलिस अधीक्षक जिला जैसलमेर को दी व पूरे हालात निवेदन किये जिस पर पुलिस अधीक्षक द्वारा माता पिता व संबंधित थाना पर संपर्क करने को कहा जो फोन से पिता से बात करने पर पता चला कि पिता उसी दिन से दिमाग की हालत खराब है, परन्तु उसके चाचा से वारता हुयी व उन्होंने थाना अनूपगढ में जाकर पुलिस इंस्पेक्टर से बात करवायी जो मां-बाप ने शीघ्र रामगढ पहुंचने की बात कही।

नहर में मिली अज्ञात मृतक की अंगूठी से हुई पहचान
ज्ञात रहे कि कल दिनांक 05.05.2019 को आसूतार रोड पर रामगढ से 10 किलोमीटर दूर नहर में एक लाष की सूचना मिली जिस पर मौका पर षिवलालसिह उनिपु पहुंचे तो लाष सडी गली अवस्था में थी, लाष का चेहरा पहचानने योग्य नहीं था, जिसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी गयी। जिस पर पुलिस अधीक्षक द्वारा तुरंत लाश की शिनाख्त करने के निर्देश दिये गये। निर्देशों की पालना में षिवलाल उनिपु ने जन सहयोग से लाष को नहर से बाहर निकलवाया तथा आस पास के लोगो को बुलाकर पहचान करवायी तो मृतक की पहचान कपडो व हाथ में पहनी अंगूठी से हुयी मृतक का नाम मोहनराम जाति भाट निवासी बडा बाग के रूप में पहचान हुयी, आज दिनांक को बाद पोस्टमार्टम कार्यवाही के लाष को परिजनो को सुपुर्द की गयी।

Leave a Comment